Breaking NewsCrimeउत्तर प्रदेश

झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही, प्रसव के दौरान नवजात की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

आगरा : पिनाहट कस्बा में महिला प्रसव के दौरान झोलाछाप की लापरवाही के चलते नवजात शिशु की मौत हो गई। परिजनों ने झोलाछाप डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए जम कर हंगामा किया।

जानकारी के अनुसार थाना मंसुखपुरा के गाँव करकौली निवासी हजारी लाल की 35 वर्षीय पत्नी अनीता देवी को बुधवार रात्रि में प्रसव पीड़ा हुई। परिवारीजन गर्भवती महिला को लेकर पिनाहट राजा खेड़ा रोड पर सर्वोदय स्कूल के पास एक झोलाछाप के क्लीनिक पर आ गये। परिवारीजनों ने बताया कि झोलाछाप ने डिलेवरी करने की पूरी गारंटी लेने के बाद महिला को भर्ती कर लिया। रात्रि में महिला को तेजी से प्रसव पीड़ा होने लगी।

आरोप है कि झोलाछाप के यहाँ स्टाफ नर्स की कोई व्यवस्था नहीं थी और उसने फोन कर एक महिला को डिलेवरी के लिये बुलाया। महिला करीब एक घंटे बाद झोलाछाप के क्लीनिक पर पहुँची और गर्भवती महिला की बिना जाँच पड़ताल के ही डिलेवरी करना शुरू कर दिया। झोलाछाप के क्लीनिक पर डिलेवरी से सम्बन्धित कोई भी उपकरण उपलब्ध नहीं था, फ़िर भी झोलाछाप ने लापरवाही दिखाते हुए जबरदस्ती रुपयों के लालच में डिलेवरी करने पर आमादा हो गये।

गलत प्रसव के कारण बच्चे की मौत हो गई। जब इस बात की जानकारी परिवारीजनों को हुई तो वह झोलाछाप के पास शिकायत करने पहुँचे तो उन्हें डरा धमका कर हड़का दिया। परिवारीजन झोलाछाप की लापरवाही और नवजात बच्ची की मौत का आरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे और इसकी शिकायत फोन पर एसडीएम बाह अनिरुद्ध से की।

एसडीएम बाह मौके पर झोलाछाप के क्लीनिक पर पहुँच गये लेकिन तब तक झोलाछाप अपना क्लीनिक बंद कर भाग गया। वहीं पीडित परिवार ने झोलाछाप के खिलाफ लिखित शिकायत करने की बात कही। वहीं उप जिलाधिकारी ने झोलाछाप के खिलाफ पिनाहट सीएचसी अधीक्षक अतुल भारती को एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिये हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close